भारत

मुस्लिम न दाढ़ी रखेंगे और न नमाज पढ़ेंगे, रोहतक में पंचायत का फरमान

टिटौली गांव में गोवंश की हत्या से खफा पंचायत ने घोषणा की है कि मुस्लिम समुदाय के लाेग सार्वजनिक स्थल पर नमाज नहीं पढ़ेंगे और टोपी भी नहीं पहनेंगे।

जेएनएन, रोहतक। ईद पर यहां टिटौली गांव में गोवंश की हत्या से खफा पंचायत ने घोषणा की है कि मुस्लिम सार्वजनिक स्थल पर नमाज नहीं पढ़ेंगे। वे टोपी भी नहीं पहनेंगे आैर वे अपने बच्चों के नाम भी पहले की तरह ही हिंदी में रखेंगे। अरबी या फारसी में नहीं। साथ ही ईद पर गोवंश की हत्या करने वाले के गांव में प्रवेश पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया है।

टिटौली में जो मुस्लिम हैं वे पेशे से धोबी हैं। इस पंचायत में लगभग 500 लोग शामिल हुए, जिनमें मुस्लिम भी थे। सरकारी स्कूल में गत 22 अगस्त को एक बछड़ी की हत्या हो गई थी। आरोप यामीन नाम के युवक पर है। इसे लेकर ही मंगलवार शाम को करीब पौने चार बजे पंचायत शुरू हुई। पंचायत में एक कमेटी बनाई गई।

कमेटी ने अपना फैसला पंचायत के समक्ष रखा, जिसे सर्वसम्मति से स्वीकार कर लिया गया।मुस्लिम व्यक्ति ने गोशाला को दिए 11 हजार रुपये : मुस्लिम लोगों ने भी पंचायत के फैसलों पर सहमति प्रकट की। मुस्लिम समाज के ही जयवीर ने गोशाला के नाम पर 11 हजार रुपये भी दान में दिए।

जयवीर उस पीढ़ी के हैं, जिनके नाम हिंदुओं की तरह होते थे।पंचायत में लिए गए फैसले- गांव में सार्वजनिक स्थल पर न तो कोई नमाज पढ़ेगा और न कोई बाहर से नमाज पढ़ाने आएगा- मुस्लिम समाज में बच्चे का नामकरण पहले की तरह हिंदी शब्दों में किए जाएंगे- गांव के युवक बड़ी दाढ़ी नहीं रख सकेंगे। कब्रिस्तान की जमीन को धान की कटाई के बाद पंचायत में शामिल किया जाएगा। बाद में पंचायत कब्रिस्तान के लिए अलग से जमीन देगी।

Please follow and like us:
RSS
Follow by Email
Facebook
Google+
https://www.jehanabadonline.com/indianews/haryana-rohtak-muslims-will-not-be-bearded-and-will-not-pray-namaz-said-order-panchayat/
Twitter

About the author

Related Posts

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.